Reviews

She Review: क्राइम-थ्रिलर से भरपूर है इम्तियाज अली की ये पहली वेब सीरीज

लॉकडाउन के दौरान ओटीटी प्लेटफॉर्म ने अपने जबरदस्त कंटेंट से सबको मनोरंजित किया है। इस दौरान कई वेबसीरीज को अलग अलग प्लेटफॉर्म पर रिलीज किया गया। वहीं इम्तियाज अली द्वारा निर्मित पहली वेबसीरीज ‘शी (She)’20 मार्च को नेटफ्लिक्स पर रिलीज हो गई है। शी की कहानी एक्शन थ्रिलर से भरपूर है। इस वेब सीरीज में अदिति पोहनकर, विजय वर्मा, विश्वास किनी, शिवानी रंगोले, अजय जाधव, साकिब अयूब, परितोष संड और किशोर कुमार हैं। इस वेब सीरीज में अदिति पोहनकर मुख्य भूमिका में है। वेब सीरीज की कहानी एक मुंबई शहर में रह रही एक हेड कॉन्सटेबल भूमिका परदेसी की है।

सीरीज में भूमिका परदेसी के कंधों पर घर का भी सार भार है और दूसरी तरफ ऑफिस की भी जिम्मेदारी है। भूमिका अपने पति से अलग अपनी मां के साथ रहती है, क्योंकि उसका पति उससे खुश नहीं रहता है और वो उससे तलाक लेना चाहता है। भूमिका के पति का मानना है कि उसे उसकी पत्नी में औरतों वाली कोई भी चीज नजर नहीं आती। भूमिका बहुत साधा रहती है। वो अपनी जिंदगी में थोड़ी उलझी भी है। सीरीज में उसकी जिंदगी बहुत संघर्ष भरी है। भूमिका की मां के अलावा उसके साथ उसकी छोटी बहन भी रहती है। उसकी बहन उससे बिल्कुल अलग है वो बहुत बन-ठन के रहती है।

भूमिका अपनी जिंदगी में थोड़ी परेशान सी रहती है क्योंकि वो खुद को ही नहीं समझ पाती है। अपने अनसमझ व्यवहार से वो थोड़ी परेशान भी रहती है। भूमिका की जिंदगी में जब नया मो़ड़ लेती है जब उसे एक खतरनाक मिशन के लिए भेजा जाता है। भूमिका को एसीपी फर्नांडिस एक शातिर बदमाश को पकड़ने के लिए सीक्रेट मिशन पर लगा देते हैं। भूमिका का मिशन है सस्या नाम के गैंगस्टर को पकड़ना जिसके जरिए पूरी दुनिया में ड्रग सप्लाई करने वाले नायक तक पहुंचना है।

सीरीज की कहानी को काफी अच्छे से पर्दे पर उतारने की कोशिश की है, लेकिन कही न कही थोड़ी कसर रह गई है। हालांकि सीरीज की कहानी जबरदस्त है। भूमिका के ऊपर घर, परिवार और ऑफिस की भी जिम्मेदारी है। अपनी पहचान को लेकर बार-बार सवाल किए जाने से परेशान भूमिका अपने मिशन में प्रोसटिट्यूट बनकर माफिया से जुड़े लोगों को पकड़ने की कोशिश करती है। काफी मुश्किलों के बाद वो अपने मिशन में कामयाब भी होती है और अपने सस्या नाम के गैंगसटर को पकड़ भी लेती है। इम्तियाज अली ने इसमें देह का मनोविज्ञान डाला है।

भूमिका को पहली बार अपनी देह में उठने वाली तरंगों का भान तब होता है जब वह सस्या के चंगुल में होती है। इसी बीच भूमिका खुद को पहचानती है और धीरे-धीरे उसके व्यवहार में बदलाव आने लगता है। लेकिन कहानी में एक नया मोड़ जब आता है जब  भूमिका पुलिस के खिलाफ जाकर उसके साथ हाथ मिला लेती है।

वहीं, पुलिस का मुखबिर बन चुके सस्या का नायक भूमिका के सामने गला काट देता है। इस सीरीज के सिर्फ सात ही एपिसोड हैं। अब इस सीरीज के फैंस को इसके अगले सीजन का इंतजार रहेगा। सीरीज की कहानी थोड़ी फीकी है क्योंकि बीच-बीच में ये कहानी थोड़ी बोरिंग भी लगने लगती है।

Related posts

एक्शन से भरपूर है राजीव खंडेलवाल की ‘नक्सलबाड़ी’, कलाकारों की एक्टिंग को देख आप कहेंगे-‘वाह’

Preeti Pal

Bulbbul Review: राजघराने में होती है ‘बुलबुल’ की शादी, फिर भी कहानी है ‘खूनी खेल’ से भरी

Preeti Pal

Serious Men Review: नवाजुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म ‘सीरियस मेन’ देती है समाज के लोगों को ये बड़ा मैसेज

Preeti Pal

Leave a Comment